सुंदरता short inspirational story for women in hindi

 

काफी समय पहले की बात है कुछ औरते नदी के किनारे बेठी हुयी थी वोह बहुत ही सुन्दर थी लेकिन sundarta के वजह से ही वोह आपस में झगड़ रही थी,उनमे से हर कोई अपने आप को सबसे सुन्दर बता रही थी,उसी वक़्त एक बूड़ी औरत वहा से गुजरी उन्होंने उस बूडी औरत से कहा की अम्मा एक बात बताओ की हम्मे से सबसे सुन्दर कोन है?

इस पर वोह बूडी औरत कहने लगी की में बहुत ही भूखी हु पहले मुझे कुछ खाने के लिए दो,ये बात सुनकर उन औरतो ने उस बूड़ी अम्मा को वहा से भगा दिया,बोली की चल भाग यहाँ से.

बेचारी बूडी अम्मा ये सुनकर वहा से चल दी,और नजदीक ही एक औरत जो की दिखने में गरीब सी लग रही थी,उसके पास में वोह बूडी अम्मा गई और कहने लगी की में भूखी हु,मुझे कुछ खाने के लिए दो.इतना सुनकर उस गरीब मजदूरन औरत ने अपनी रोटी में से कुछ रोटी निकालकर कुछ रोटी उस भूखी अम्मा को दे दी.

जब अम्मा ने रोटी खा ली तोह उसने उस मजदूरन को आशीर्वाद दिया और वहा से चल दी,वोह बूदी औरत जाते समय नदी के किनारे से गुजरी तोह उन औरतो से कहने लगी की सुन्दरता शक्ल सूरत से नहीं मन से देखि जाती है,जो औरत मन से सुन्दर हो वोही वास्तव में सुन्दर है,इतना कहकर वोह बूडी अम्मा वहा से चल दी.

दोस्तों वाकई में जो इन्सान मन से सुन्दर है वोही सुन्दर है,बेसे भी अगर कोई दिखने में सुन्दर लगता है,हम उसे पसंद करते है,लेकिन अगर हमें उसके बुरे विचार,अवगुण या फिर बुरे कर्म का पता लगता है तोह हमें उससे नफ़रत होने लगती है इसलिए हमेशा याद रखिये की सुन्दरता हमेशा मन की होनी चाहिए,क्योकि शरीर की सुन्दरता तोह एक दिन नस्त हो ही जाती है,लेकिन कोई मन से सुन्दर हो तोह उसकी सुन्दरता कभी भी ख़त्म नहीं होती.इसलिए हमेशा मन से सुन्दर बनने की कोशिश करे,अगर आप मन से सुन्दर बनोगे तोह दुनिया आपको पसंद करेगी.

दोस्तों अगर आपको ये article पसंद आये तोह हमारा फेसबुक page like जरुर करे.

ये भी पढें-पेड़ की चोटी Inspirational story in hindi

sukh sampatti a True Story in hindi

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.