life changing event stories-mark rutherford

life changing event stories-mark rutherford

life changing event stories mark rutherford-दोस्तों कभी कभी हमारे जीवन में कुछ ऐसा होता है जिससे हमारी पूरी जिन्दगी बदल जाती है,क्योकि हमें हमारे जीवन में घटी एक घटना ही बहुत कुछ सिखा सकती है ,ऐसा ही कुछ हुआ था ब्रिटिश लेखक मार्क रदरफोर्ड(mark rutherford) के साथ.ये एक life changing event stories है.ये घटना mark rutherford के बचपन में घटी थी.जब ये बच्चे थे तोह एक बार समुद्र के किनारे पर बेठे हुए थे,तभी उसको कुछ दूर एक जहाज दिखाई दिया,उनकी इक्छा हुई की जहाज के करीब जाकर उसे देखा जाए,वोह तेरना तोह जानता ही थे तोह वोह उसी पल उठे और  जहाज की ओर तेरकर जाने लगे

जाते समय वोह एक बहुत ही ख़ुशी का अनुभव कर रहे थे,वोह बच्चा तेरता गया ओर जहाज के करीब जा पंहुचा ओर जहाज के कुछ चक्कर लगाकर बहुत खुश हुआ,उसे अपनी इस सफलता पर बहुत ही ख़ुशी हो रही थी.
लेकिन उस लड़के ने जेसे ही पीछे मुड़कर देखा तोह उसकी वोह ख़ुशी निराशा में बदल गयी क्योकि वोह समुद्र के किनारे से काफी दूर आ चूका था उसकी हिम्मत कमजोर पड़ने लगी और उसका विशवास ख़त्म होने लगा,उसे लगने लगा की अब तोह वोह समुद्र के किनारे तक नहीं पहुच पायेगा,उसे समुद्र के किनारे पर पहुचना बहुत ही मुश्किल लग रहा था.तब उसने सोचा की अगर मैंने यहाँ पर हार मानी तोह में जीवित तोह रह नहीं पाऊंगा.अब या तोह किनारे पर जाने के लिए मेहनत कर ली जाए या फिर डूब कर मर जाया जाए.
तभी उसने अपनी निराशा को दूर करने की कोशिश की और महसूस किया की निराशा एक आशा में परिवर्तित हो गयी तोह उसने महसूस किया की उसके अन्दर एक दम से ही एक नयी ऊर्जा ने जन्म लिया और उसने सोचा की अगर मै ऐसे ही खड़ा रहा तोह जान चली जायेगी,अगर जान जाए तोह क्यों ना इससे पहले किनारे तक पहुचने के लिए संघर्ष किया जाए,अगर तैरते तैरते समुद्र के किनारे पर पहुच गया तोह जिंदगी मिल जायेगी,इसी तरह के विचारो ने उस लड़के ने अपने अन्दर विशवास को जन्म दिया ओर उसका मन आत्म्विश्वास से भर गया,पूरी कोशिस के बाद वोह आखिर समुद्र के किनारे पर पहुच ही गया.जब वोह समुद्र के किनारे पर पहुचे तोह उनको इस घटना से बहुत प्रेरणा मिली,उन्होंने अपने जीवन की इस घटना से प्रेरणा ली और जीवन में सफल रहे.उन्होंने अपने जीवन में विकत परिस्थितियों से निकलने और उन परिस्थितियों से बहार निकलकर जीवन में कठिन परिश्रम किया और सफल रहे.
दोस्तों वाकई में जब भी हम किसी विकट परिस्थिति में होते है,तोह हमारी निराशा ही हमारा सबसे बड़ा दुश्मन होती है,अगर हम  अपनी निराशा को अपने अन्दर से निकाल देंगे तोह आप देखेंगे की आपके अन्दर एकदम से एक अंदरूनी ताक़त ने जन्म ले लिया है और फिर आप अपने लक्ष्य को पा सकोगे क्योकि जीवन में आगे बढने के लिए सबसे जरुरी है कठिन परिश्रम पूरे जोश और जूनून के साथ करना.
अगर आपको hamara ये आर्टिकल life changing event stories-mark rutherford पसंद आये तोह इसे शेयर जरुर करे

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.