Prithviraj Kapoor Biography in Hindi प्रथ्वीराज कपूर की जीवनी

Prithviraj kapoor biography in hindi

आज हम आपके साथ एक बहुत ही ख़ास पोस्ट Prithviraj kapoor biography in hindi शेयर करने वाले है जो एक ऐसे इन्सान की बायोग्राफी है जिन्होंने bollywood में शुरुआत की थी,ये bollywood के युगपुरुष है और ये कहना भी गलत नहीं होगा की ये एक पहले अभिनेता है,और आज bollywood के कपूर खानदान की शुरुआत इन्ही से होती है,ये अपनी कड़क आवाज और दमदार अभिनय के लिए जाने जाते है,Prithviraj kapoor biography in hindi आपको बहुत ज्यादा प्रेरित करेगी,इन्होने काफी समय तक लोगो का अपने अभिनय से मनोरंजन किया,इन्होने अपने career में काफी struggle भी किया और दुनिया में एक ऐसी पहचान बना दी की,इनकी death हुए लगभग ४५ साल हो गए है फिर भी में आपको इनके बारे में बता रहा हु,चलिए bollywood के इस महान अभिनेता के बारे में यानी Prithviraj kapoor biography in hindi शुरू से जानते है.

प्रारंभिक जीवन

इनका जन्म ३ नवम्बर १९०६ में पाकिस्तान में हुआ था जो पहले भारत में ही था,इन्होने अपनी प्रारंभिक शिक्षा लायलपुर और लाहोर से की,इनके पिता का नाम दीवान बशेस्वर्नाथ था जो पुलिस में थे,इनके पिता पुलिस में सब इंस्पेक्टर थे,जब इनके पिता का तबादला हुआ तोह ये परिवार सहित पेशावर में रहने के लिए आ गए.वहा पर आकर उन्होंने अपने आगे की पढाई की और जीवन में कुछ बनने का सोचा,इनके पापा सब इंस्पेक्टर थे इसलिए इन्होने कॉलेज में कानून की पढाई करना चाहा और एक साल complete भी किया लेकिन इनकी life में कुछ बड़ा करना ही लिखा था.

इनका college life में बिलकुल मन नहीं लगा और इन्होने एक साल के बाद पढाई बीच में ही छोड़ दी क्योकि इनका मन theater की और था,उनमे शुरू से ही एक कला थी,वोह अपनी इस कला को लोगो को दिखाना चाहते थे,उनके अन्दर एक acting की कला थी और कुछ time बाद ऐसा ही हुआ,और इन्होने लोगो को कुछ ऐसा कर दिखाया की लोग अभी भी इन्हें याद करते है.

जब ये १८ साल के थे तभी इनका विवाह हो गया था,

इसे भी पढिये-रसोइया से हीरो कैसे बने-अक्षय कुमार

फिल्मी दुनिया का सफ़र

पृथ्वीराज चौहान एक ऐसे शख्स है जिनके बदोलत ही आज पूरा कपूर परिवार bollywood में है,उन्होंने अपने जीवन में काफी struggle किया है,जैसे की मेने आपको ऊपर बताया की कॉलेज के दिनों में उनका मन theater की और हो गया थे,वोह अपने jeevan में कुछ बड़ा करना चाहते थे,इसलिए उन्हें कुछ पैसो की जरुरत थी,सन १९२८ में उन्होंने अपनी चाची से कुछ रूपये लिए और आ गए सपनो की उस दुनिया में जहा पर आज हर इन्सान पहुचना चाहता है,वोह रूपये लेकर एक सपने को पूरा करने के लिए बॉम्बे आ गए,वहा पर उन्होंने लगभग २ साल तक काफी struggle किया और फिर एक theater में काम करना शुरू किया.

वोह theater में काम किया करते थे और ३ घंटे का theater का काम ख़त्म होने पर वोह अपनी झोली फेला देते थे यानी theater से जब लोग बहार निकलते थे तोह वोह अपनी झोली आगे करके खड़े हो जाते थे जिससे निकलने वाले लोग झोली में कुछ पैसे डाल सके.

उन्होंने फिल्म आलम आरा में सन १९३१ में एक सहायक अभिनेता के रूप में काम किया,इसके बाद इन्होने राज रानी,देवकी बॉस जैसी कई सफल फिल्मे की,जिनके कारण पृथ्वीराज कपूर जी को पहचान मिल पायी और असल में यहाँ से उनकी एक अच्छी शुरुआत हुयी.

इसके बाद इन्होने bollywood में कुछ फिल्मे की जो लगभग सफल ही रही लेकिन विद्यापति फिल्म में इनके अभिनय को दर्शको ने काफी सराया.और इस तरह से इनका career अच्छा चल रहा था.

इसके बाद इन्होने पागल फिल्म में एक एंट्री हीरो का किरदार निभाया जो भी बहुत ही अच्चा था.इसके बाद १९४१ में इन्होने फिल्म शोहराब मोदी में काम किया जो काफी सफल रही और इसके बाद पृथ्वीराज कपूर एक सफल अभिनेता बन गए.

theater की स्थापना

पृथ्वीराज कपूर ने १९४४ में अपना खुद का theater खोलने का फेसला किया और theater की ओप्पेनिंग करदी,क्योकि रुझान theater ही था,उन्होंने अपने theater का नाम रखा पृथ्वीराज theater जो बहुत अच्छा चला क्योकि पृथ्वीराज अपने theater की ओर पूरी तरह समर्पित थे,वोह अपनी life में काफी खुश थे,उन्होंने अपने theater के जरिये बहुत सारे नाटक किये जो सराहनीय है.लोग उनके नाटको को पसंद भी किया करते थे,उन्होंने अपने theater के नाटको के जरिये बहुत सारे लोगो को एक पहचान दी जैसे की रामानंद सागर जी.

वोह कभी भी बीमार हो जाते थे तोह भी अपने काम को नहीं छोड़ते थे,वोह अपने काम पर पूरी तरह से समर्पित थे की एक बार उस time के प्रधान मंत्री जवाहर लाल नेहरु द्वारा विदेश जा रहे सांस्क्रतिक प्रतिनिधि मंडल में शामिल होने की बात कही लेकिन इन्होने मन कर दिया,इन्होने कहा की में अपने theater के काम को नहीं छोड़ सकता है क्योकि इन्हें अपना theater बहुत प्यारा था.

अन्य फिल्मे

इन्होने अपने जीवन में काफी फिल्मे की और कुछ फिल्मो में तोह इन्होने एक ऐसी पहचान बना दी की लोग उन्हें आज भी नहीं भूल पाते,आज भी उन्हें याद करते है,उनकी फिल्म मुगले आजम आज भी लोगो के दिमाग में है और उसका गाना कुछ लोग आज भी गुनगुनाते है,इसी के साथ उन्होंने महल आसमान जैसी फिल्मो में एक ऐसी भूमिका निभायी जो बहुत ही प्रमुख थी और लोग उन फिल्मो के वजह से कभी भूल नहीं पायेंगे,इसके साथ उन्होंने और भी फिल्मे बनायीं जैसी- आवारा,हरिश्चंद तारामती इत्यादि.

बॉलीवुड का कपूर परिवार kapoor family in bollywood

कपूर family bollywood में जानी मानी है,बैसे तोह कपूर family काफी लम्बी है लेकिन यहाँ पर हम सिर्फ bollywood की जानी मानी हस्तियों की नाम बताने वाले है.

पृथ्वीराज कपूर के ३ लड़के है जिनके नाम है राज कपूर,शम्मी कपूर और शशि कपूर जो bollywood की जानी मानी हस्ती है,जिन्होंने bollywood में काफी कमाल कर दिखाया है.

राज कपूर के २ बेटे रंधीर कपूर और ऋषि कपूर भी bollywood में काफी पोपुलर है,जिन्हें हर कोई जनता है.

इसके बाद रंधीर कपूर की २ लडकिया करिश्मा और करीना कपूर जो bollywood की काफी पोपुलर हीरोइन है.

ऋषि कपूर का लड़का रणवीर कपूर जो की अभी का स्टार है जो आने वाले समय में काफी आगे जा सकता है.

तोह दोस्तों इस तरह से पृथ्वीराज कपूर ने bollywood में कमाल तोह दिखाया ही था लेकिन अब उनकी कपूर family भी bollywood में काफी कमाल दिखा रही है.

देहांत

दोस्तों पृथ्वीराज कपूर की २९ मई १९७२ को देहांत हो गया था लेकिन इस सुपरस्टार ने जो bollywood में जो कारनामा किया था वोह आज भी हमें याद है,और हमेशा याद रहेगा,जब तक दुनिया रहेगी,पृथ्वीराज कपूर को कोई भूल नहीं पायेगा.

दोस्तों ये थी bollywood के एक महान अभिनेता की जीवनी,हमें comments के जरिये बताये की Prithviraj kapoor biography in hindi आपको कैसी लगी और हमारा फेसबुक पेज like करना ना भूले,दोस्तों अगर आपको Prithviraj kapoor biography in hindi के बारे में और भी अधिक जानकारी है तोह हमें बताये,हम इसे लगातार अपडेट करते रहेंगे.

पढिये-Mountain Man Dashrath Manjhi Life Story in Hindi

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.