बिल्ली और मछली की कहानी “best motivational stories in hindi”

दोस्तों कैसे आप सभी,दोस्तों आज की हमारी पोस्ट बेहद खास है,दुनिया में आज हर इंसान सफल होना चाहता है लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जो अपने मार्ग में मिल रही असफलताओं के डर से बार-बार लगातार प्रयास करना छोड़ देते हैं
best motivational stories in hindi

लेकिन आज की हमारी ये कहानी आपको जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेगी तो चलिए पढ़ते हैं दीपक कश्यप जी द्वारा भेजी गई इस कहानी को.

दोस्तों कुछ समय पहले वैज्ञानिकों ने एक सर्वे किया,इस सर्वे में एक बिल्ली को पिंजरे में बंद कर दिया गया और पिंजरे के बाहर एक मछली रख दी गई,जब बिल्ली ने वह मछली देखी तो वह उसको खाने के लिए बहुत तेजी से पिंजरे के दरवाजे में धक्का मारने लगी,उसने लगभग सौ धक्के मारे और पिंजरा खुल गया और उसने उस मछली को खा लिया,कुछ समय बाद विज्ञानिकों ने फिर से यही क्रिया दोहराई उन्होंने फिर बिल्ली को पिंजरे में बंद कर दिया और पिंजरे के बाहर फिर से एक मछली रख दी गई.

इन्हें भी पढिये-लोमड़ी और कौवा  काले कौवे की दुखद कहानी

वह बिल्ली फिर से उस मछली को खाने के लिए दरवाजे में धक्का मारने लगी लगी,इस बार उसको दरवाजा खोलने में थोड़ा सा कम समय लगा और पिंजरे से बाहर निकलकर उस मछली को खा गई फिर कुछ समय बाद विज्ञानिकों ने फिर से उस पिंजरे में बिल्ली को बंद कर दिया और पिंजरे का दरवाजा बंद कर दिया,इस बार उस बिल्ली को पिंजरे का दरवाजा खोलने में और भी कम समय लगा,लगभग 30- 40 बार धक्के मारने पर उसका दरवाजा खुल गया, इस बार बिल्ली को दरवाजा खोलने में पहले से कम समय लगा,उसने पिंजरे से बाहर निकलकर मछली को खा लिया,दोस्तों विज्ञानिक जैसे जैसे बिल्ली को पिंजरे में बंद करते बार-बार प्रयास करने से वह अगली बार बहुत ही जल्दी से जल्दी दरवाजा खोल देती.

धीरे-धीरे कई बार पिंजरे में बिल्ली को बंद करने के बाद एक समय ऐसा भी था कि बिल्ली ने पिंजरे का दरवाजा खोलने के लिए कोई ज्यादा समय नहीं लगाया बल्कि एक दो बार में उसने वह पिंजरा खोल दिया क्योंकि बिल्ली बार-बार अपने द्वारा किए गए प्रयासों से सीख चुकी थी की अब पिंजरा कैसे खोलना है,उसको पिंजरा खुलने वाली कुंदी का पता चल चुका था और वह अब बिल्ली एक बार में ही पिंजरे का दरवाजा खोल देती थी,कहने का मतलब यह है की बिल्ली ने भी अपने द्वारा किए गए प्रयासों से पिंजरे का दरवाजा खोलना सीख लिया था.

दोस्तों इसी तरह अगर हम कोई काम कर रहे हैं और हम उसमें बार-बार लगातार प्रयास कर रहे हैं तो दोस्तों एक समय ऐसा भी आता है कि हम उस काम में परफेक्ट हो जाते हैं और जब भी हम फिर से प्रयास करते हैं तो हमें उस में बहुत ही कम समय में सफलता मिलती है इसलिए बार-बार प्रयास करने से कभी डरना नहीं चाहिए क्योंकि जो प्रयास करता है,उसको सफलता जरूर ही मिलती है.

दोस्तों आज की ये story मुझे मेरे एक दोस्त दीपक कश्यप जी ने बताई थी,उनका मैं थैंक्स करना चाहूंगा,दीपक कश्यप जी एक कॉलेज स्टूडेंट है और साथ में बच्चों को पढ़ाते हैं,वो गुना शहर के पास में स्थित बजरंगगढ़ के रहने वाले हैं.

दीपक कश्यप
दोस्तों अगर आपको हमारा आर्टिकल बिल्ली और मछली की कहानी “best motivational stories in hindi” पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना न भूले और हमारी अगली पोस्ट सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब करें और अगर आपको ये कहानी पसंद आई हो तो हमें कमेंट्स के जरिए बताइए की ये पोस्ट आपको कैसी लगी.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.