ख़ुशी पाने की कहानी “short story about finding happiness in hindi”

दोस्तों काफी समय पहले की बात है कि एक वकता बहुत सारे लोगों को कुछ सुना रहे थे उन्होंने एक चुटकुला सुनाया तो सभी लोग जोर-जोर से हंसने लगे कुछ समय बाद उन्होंने वही चुटकुला एक बार फिर सुनाया तो इस बार पहले की तुलना में कम लोग हंसे,
short story about finding happiness

उस भक्ता ने एक बार फिर वह चुटकुला सुनाया तो अब तो और भी कम संख्या में लोग हंसने लगे,उस वक्ता ने एक बार वह चुटकुला फिर से सुनाया,इस बार एक व्यक्ति गुस्से में उस वक्ता से कहने लगा की हम यहां पर मनोरंजन के लिए आए हैं क्या आप बार-बार एक ही चुटकुले सुनाए जा रहे हैं तो बकता कहने लगा कि मैं भी आपको यही समझाने वाला हूं.

दरअसल लोगों को जब एक ही खुशी बार-बार दी जाती है तो वह बर्दाश्त नहीं कर पाते,एक ही कारण से बार-बार खुश नहीं रह सकते फिर वह कुछ लोग एक ही कारण से बार-बार दुखी क्यों होते रहते हैं,वह दुख को क्यों नहीं निकालते हैं,एक बार जिस कारण से वह दुखी हो जाते हैं और लंबे समय तक उस एक ही बात से दुखी होते रहते हैं ऐसा क्यों? इसलिए जिस तरह से हम एक ही बात पर बार-बार खुश नहीं हो सकते उसी तरह हम को एक ही बात पर बार बार दुखी नहीं होना चाहिए.

सभी लोग वक्ता की बात समझ चुके थे,इससे हमको सीख मिलती है की हमें किसी एक कारण से दुखी होना पड़े तोह बार बार दुखी मत होइए क्योकि जब ख़ुशी बर्दास्त नहीं होगी तोह एक ही दुःख बार बार क्यों करते हो.

अगर आपको हमारी पोस्ट short story about finding happiness पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारी अगली पोस्ट पाने के लिए हमें सब्सक्राइब करें और हमें कमेंट्स के जरिये बताये की आपको हमारा ये प्रसंग कैसा लगा,अगर आप हमारी पोस्ट सीधे अपने ईमेल पर पाना चाहे तोह हमें सब्सक्राइब करे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.