भेड़ की खाल Hindi “story on lalach buri bala hai”

दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों हम अक्सर आपके लिए कुछ स्पेशल लाते हैं आज भी हम आपके साथ एक बहुत ही शानदार कहानी Hindi story on lalach buri bala hai प्रस्तुत करने वाले हैं दोस्तों लालच बहुत बुरी चीज़ होती है जिसने भी इस दुनिया में लालच किया है उसका हमेशा नुकसान हुआ है इसलिए हमें लालच नहीं करना चाहिए यही सीख देती है हमारी कहानी तो चलिए पढ़ते हैं इस बेहतरीन कहानी को.
दोस्तों काफी समय पहले एक गांव में एक चरवाहा रहता था उसके पास कुछ भेड़े थी,वह सुबह से शाम तक अपनी भेड़ों को चराने के लिए जंगल में जाता था,उस जंगल में एक भेड़िया भी था दरअसल भेड़िया उन भेड़ो को मारकर खा जाना चाहता था
story on lalach buri bala hai
जब भी भेड़िया भेड़ो को देखता तो उसकी लार टपकने लगती थी,एक दिन उसने देखा कि वह चरवाहा एक भेड़ को मारकर उसका मांस खा रहा है और उसने उस भेड़ की खाल उतार कर पास में ही रख दी थी,अब उस भेड़िए के दिमाग में एक ख्याल आया कि क्यों न मैं इस भेड़िए की खाल को पहन लू और खुद एक भेड़ बन जाऊं और रात में इन सारी भेड़ो को मारकर खा जाऊं.
अगले दिन उसे वह मौका मिल गया और उसने उस भेड़िए की खाल को ओड़ लिया और बह चरवाहा अपनी भेड़ो के साथ उस भेडिये को भेड़ समझकर अपने घर ले गया,रात में उसके यहां पर मेहमान आ गए और उस चरवाहे ने मेहमानों को भेड़ का मास खेलाने का सोचा.
वही पर एक जगह भेड़े बंधी हुई थी तो चरवाहे ने नजर डाली तो उसको एक बड़ी भेड़ दिखी,उसने सोचा कि इसका ही गोश्त बनाया जाए दरअसल वह भेड़ नहीं थी बल्कि भेड़ की शक्ल में एक भेड़िया था,चरवाहे ने उसको मार डाला इस तरह से उस भेडिये की मौत हो गई और उसको अपने लालच का परिणाम मिल गया इसलिए कहते हैं कि जिंदगी में लालच कभी भी नहीं करना चाहिए क्योंकि लालच बुरी बला होती है.
अगर आपको हमारा ये आर्टिकल Hindi story on lalach buri bala hai पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.