मानवाधिकार पर निबंध Human rights essay in hindi

Human rights essay in hindi

Human rights essay in hindi-हेलो फ्रेंड्स कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज की हमारी पोस्ट Essay on manav adhikar in hindi आप सभी को मानव के अधिकारों की जानकारी देगी,दोस्तों हमारे भारत देश में हर एक नागरिक को कुछ विशेष अधिकार दिए गए हैं दरअसल मानव अधिकार के कारण मानव आज स्वतंत्र है वह बहुत ही तेजी से प्रगति कर रहा है.

Human rights essay in hindi
Human rights essay in hindi

अंग्रेजो के शासन काल में ऐसे नियम होते थे जिनके कारण मानव को आगे बढ़ने में बहुत सारी परेशानी का सामना करना पड़ता था लेकिन पहले के जमाने से अभी तक के जमाने में बहुत सारा परिवर्तन आया है,मानव पूर्ण रूप से स्वतंत्र है और वह अपने तरीके से जिंदगी में आगे बढ़ने का प्रयास कर सकता है और आज पूरी आजादी के साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकता है चलिए जानते हैं कि मानव को कौन-कौन से अधिकार संविधान द्वारा प्रदान किए गए हैं

जीवन का अधिकार

प्रत्येक मनुष्य को भारत सरकार द्वारा जीवन का अधिकार प्रदान किया गया है इसके अनुसार हमारे भारत देश का हर एक नागरिक स्वतंत्र है,उसे किसी भी व्यक्ति द्वारा मारा नहीं जाना चाहिए,वह अपनी इच्छानुसार कहीं पर भी घूम सकता है,वह पूरी तरह से आजाद है.उसे स्वतंत्र रूप से जीवन जीने का अधिकार है.अगर कोई भी व्यक्ति किसी व्यक्ति को जीवन नहीं जीने देता है तोह सरकार द्वारा उस पर कड़ी कार्यवाही की जाती है,क्योकि मनुष्य को जीवन जीने का अधिकार प्राप्त है.

शिक्षा का अधिकार

प्रत्येक नागरिक को शिक्षा का अधिकार है,अगर कोई भी ब्यक्ति आगे पढना चाहे तोह वह अपनी इक्षानुसार पड़ सकता है,इसमें गरीब या अमीर,जाति,धर्म आदि कोई कुछ नहीं कर सकता है,कोई भी व्यक्ति चाहे निम्न वर्ग से ही क्यों ना हो,वह उच्च शिक्षा ग्रहण कर सकता है,जिससे हर एक नागरिक को आगे बढ़ने में मदद मिली है.इस अधिकार के कारण लोगो को आगे बढ़ने में मदद मिली है,पहले के निम्न वर्ग के लोग अपने बच्चो को आगे नहीं पढ़ाते थे लेकिन आजकल हर एक वर्ग का व्यक्ति आगे बढ़ रहा है.

दास प्रथा से मुक्ति का अधिकार

दोस्तों प्राचीन काल से अभी तक बहुत सारे परिवर्तन आए हैं.पहले हमारे देश में दास प्रथा होती थी,बहुत सारे व्यापारी या कुछ लोग मानव को दास बना लेते थे लेकिन हमारे भारत सरकार द्वारा संविधान ने हमको इससे आजाद किया है,हमारे देश का हर एक नागरिक स्वतंत्र हैं उसको कोई भी दास नहीं बना सकता,पहले के जमाने में निम्न वर्ग के लोगो को व्यापारी या सेठ,साहूकार जैसे लोग दास बना लेते थे लेकिन मानव आज इस दासप्रथा से स्वतंत्र है,अगर कोई किसी को दास बनाता है तो ये गलत है.

विचारों की स्वतंत्रता

संविधान के अनुसार देश का हर एक नागरिक विचारों से पूरी तरह से स्वतंत्र है,वह अपनी इच्छा से किसी भी मुद्दे पर आवाज उठा सकता है.यह उसका हक होता है,वह अपने विचारों के आधार पर कुछ भी कर सकता है लेकिन इससे किसी व्यक्ति की मानहानि नहीं होनी चाहिए,उसे किसी भी तरह का व्यापार,नौकरी करने का पूरा अधिकार होता है वह विचारों से पूर्ण रुप से स्वतंत्र है.

अत्याचार के प्रति आवाज उठाने
का अधिकार

अगर आप पर कोई अत्याचार कर रहा है तो उससे स्वतंत्रता का अधिकार आपको मिला है,इस अधिकार के अनुसार एक इंसान पर किसी को भी अत्याचार करने का अधिकार नहीं है,इससे वह मुक्त हो सकता है,अगर कोई व्यक्ति किसी दूसरे पर अत्याचार करता है तो उसको कड़ी से कड़ी सजा दी जाती है क्योंकि हर एक इंसान स्वतंत्र होता है.

Related- नारी पर अत्याचार Nari Par Atyachar Essay in Hindi

राजनीतिक अधिकार

लोगो को राजनीतिक अधिकार प्राप्त है,लोगो को कानूनों के निर्धारण में योगदान करने का मौका देना और लोगो को अपनी इक्षा से सरकार की भागीदारी करने का मौका देता है.
इस तरह से हमारी भारत सरकार ने हर एक नागरिक को अपने खुद के अधिकार दिए हैं इन अधिकारों का उद्देश्य यही है कि लोग अपना जीवन सही से व्यतीत कर सकें क्योंकि प्राचीन काल में इन अधिकारों के ना होने के कारण लोगो को बहुत सारी समस्याओं से गुजारना होता है लेकिन इन मानव अधिकारों के लागू होने के कारण आज हमारे देश में बहुत से लोग खुश हैं,यह अधिकार मानव को सही तरह से जीवन जीने के लिए बनाए गए हैं,हमको इन अधिकारों का उपयोग सही से करना चाहिए इनका उपयोग कभी भी गलत नहीं करना चाहिए यानी हमें मानव अधिकार इसलिए दिए गए हैं जिससे हमें और दूसरों को लाभ हो,अगर हम इनका गलत तरह से उपयोग करते हैं तो हमारे समाज में बहुत हानि भी हो सकती है.

ये आर्टिकल लिखने का हमारा उद्देश्य यही है की हर एक नागरिक को अपने मानव अधिकारों की जानकारी मिले और वह इनके प्रति जागरुक बने तभी हमारा देश विकास कर सकता है.
अगर हमारा यह आर्टिकल Human rights essay in hindi आपको पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पर लाइक करना न भूले और हमें कमेंटस के जरिये बताएं कि आपको हमारा ये आर्टिकल Essay on manav adhikar in hindi कैसा लगा.
अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ भी गलत लगे तो हमें कमेंट के जरिए बताइए,हम उसे कुछ ही समय में पुनः अपडेट करेंगे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.