ईमानदारी का फल पर कहानी “Imandari ka phal story in hindi”

Hindi story on honesty

हेलो माय डियर फ्रेंड्स कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज की हमारी पोस्ट ईमानदारी पर कहानी आप सभी को बताएगी कि जिंदगी में अगर एक इंसान ईमानदार रहे तो वह जिंदगी में आगे बढ़ सकता है और उसे जिंदगी में ईमानदारी का फल जरूर मिलता है
Imandari ka phal story in hindi

दोस्तों काफी समय पहले एक लड़का जो कि बेरोजगार था वह इधर उधर नौकरी के लिए भटक रहा था तभी एक सेठ के यहां पर उसे अखबार पढ़ने का काम मिल गया.वह लगभग 45 घंटे अखबार या किताबें सेठजी को पढ़कर सुना था,एक दिन ऐसे ही घर में काम करते करते सेठ जी के यहां पर उसे कुछ रुपए मिल गये तो उसने वह रूपए किताबों से छुपाकर एक तरफ रख दिए जिससे वह नीचे ना गिरे.

वोह लड़का शाम को जाते वक्त सेठ जी को ये बात बताना भूल गया,अगले दिन जब वोह लड़का काम पर आया तोह सेठ जी के घर के सभी लोग चिंतित थे,उन् सभी ने चोरी वाली बात उस लड़के को बताई तब उस लड़के ने अपने सेठ जी को कल की पूरी बात बताई कहा की मेने वोह रूपये नीचे से उठाकर अलमारी में रखी किताबो के नीचे छुपा कर रख दिए थे जिससे वोह खो ना जाए. सेठ जी उस लड़के की बात और उसकी इमानदारी को जानकर बहुत ही प्रसन्न हुए और उन्होंने उसको जिंदगी में आगे बढ़ने का आशीर्वाद भी दिया और वाकई में वह लड़का बड़ा होकर एक हिंदी साहित्यकार बना,उनका नाम राम नरेश त्रिपाठी है.दोस्तों वास्तव में अगर हम अपने जीवन में इमानदारी रखते है तोह
हम बहुत आगे बढ़ सकते है क्योकि हमें बहुत से लोगो का आशीर्वाद प्राप्त हो जाता है.

दोस्तों अगर आपको हमारी यह कहानी hindi story on honesty पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट के जरिये बताइए कि आपको हमारी पोस्ट Imandari ka phal story in hindi कैसी लगी.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.