चालाक सिहार की पंचतंत्र की कहानी “Chalak siyar story in hindi”

Chalak siyar story in hindi

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Chalak siyar story in hindi आप सभी को बहुत कुछ सिखाएगी,दोस्तों एक जंगल में एक सिहार रहता था, वह काफी अकलमंद था एक दिन वह जंगल में शिकार करने के लिए निकला तो उसको बहुत ही तेज भूख लग रही थी
Chalak siyar story in hindi
Chalak siyar story in hindi
उसने पास में ही एक मरे हुए हाथी को देखा उसने सोचा कि आज तो मेरी किस्मत खुल गई अब मैं इस हाथी को खा लेता हूं,बह उस हाथी के नजदीक गया और अपने दांतों से उस हाथी को चीरने की कोशिश करने लगा तभी उसने महसूस किया कि हाथी की खाल कठोर होने के कारण उसका वह मांस नहीं निकाल सकता.
उसने सोचा कि अगर मैंने जल्दी कुछ नहीं किया तो जंगल के और जानवर इस हाथी की मांस को खा जाएंगे,उसने अपनी अकल लगानी शुरू कर दी.अब कुछ देर इंतजार करने के बाद वहां पर एक तेंदुआ आया तो उसने सोचा कि एक हाथी मेरा भोजन बनेगा लेकिन पास मे खड़ा सिहार बोला की आप उसको मत खाइए दरअसल ये हाथी जंगल के राजा शेर का शिकार है वह पास के तालाब में गया है उसने मुझे हाथी की देख रेख के लिए रखा है.
ऐसा सुनकर तेंदुआ डर गया वह बोला कि मैं अब इसे नहीं खा सकता क्योंकि मुझे अपनी जान नहीं गवानी है.ऐसा कहकर वह वहां से निकल गया कुछ समय बाद वहीं पर एक और जानवर आया इस जानवर ने जब हाथी को देखा तो उसे बहुत ही खुशी हुई क्योंकि वह भूखा था.वह जैसे ही नजदीक गया तो सिहार ने सोचा कि अगर इसने इस हाथी को खा लिया तो मेरा क्या होगा.
उसने उसे रोकते हुए कहा कि भाई आप यह हाथी खा सकते हैं लेकिन यह हाथी हमारे जंगल के राजा शेर का है वह नजदीक किसी तालाब में गए हुए हैं तब वह जानवर कहने लगा कि बहुत अच्छा किया कि आप ने मुझे बता दिया अब मैं इसको नहीं खाऊंगा.वह जैसे ही जाने लगा तभी सिहार के मन में एक विचार आया कि अगर वह चला गया तो मैं हाथी को कैसे खाऊंगा उसने सोचा कि मुझे कुछ ऐसा करना चाहिए कि वह पूरा हाथी खा ना पाए और मुझे हाथी का मांस खाने का मौका मिले.उसने उस जानवर को रोका और कहा कि भाई मैं आपसे बहुत खुश हूं आप थोड़ा सा मास चख लें.
उस जानवर ने मना किया क्योंकि वह शेर से डरता था तब उस सिहार ने कहा कि आप हाथी खाना शुरू करें मैं शेर की देखरेख के लिए पास में खड़ा होता हूं जैसे ही शेर आएगा मैं आपसे कह दूंगा तुम भाग जाना.अब जैसे ही उस जानवर ने अपना मुंह खोला और अपने दांत उस हाथी के पेट में डाल दिए और उसका मॉस बहार निकाला और थोड़ा सा ही खाया था कि सिहार जोर-जोर से चिल्लाने लगा और वह जानवर आवाज सुनकर भाग गया.उसने सोचा कि शेर आ गया.
इस तरह से सिहार को हाथी का मांस खाने का मौका मिला.दोस्तों सिहार ने अपनी अक्ल का इस्तेमाल करके हाथी का मांस खाया और वहां से चला गया.
दोस्तों इसलिए कहते हैं की अकल सबसे बड़ी चीज होती है हम अपने दिमाग का सही उपयोग करके बड़ा सा बड़ा काम भी कर सकते हैं.

Related-चूहा और शेर की कहानी sher aur chuha story in hindi

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Chalak siyar story in hindi पसंद आया तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं यह आर्टिकल आपको कैसा लगा.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.