माइकल जॉर्डन की कहानी Michael Jordan motivational story in hindi

Michael Jordan motivational story in hindi

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Michael Jordan motivational story in hindi माइकल जॉर्डन के जीवन में घटी एक प्रेरणादायक घटना पर आधारित है जो आपको अपने जीवन में कुछ बड़ा करने की सलाह देगा साथ में आपकी सोच ऊंची करने में मदद करेगा.दोस्तों जीवन में बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो कुछ खास करते हैं और हमें जीवन में प्रेरणा देते हैं ऐसे ही हैं माइकल जॉर्डन.आज हम जानेंगे माइकल जॉर्डन के बारे में कुछ ऐसी बातें जिससे हो सकता है आपकी जिंदगी बदल जाए.

Michael Jordan motivational story in hindi
Michael Jordan motivational story in hindi

माइकल जॉर्डन का जन्म 17 फरवरी 1963 को न्यूयॉर्क में हुआ था वह एक बहुत ही गरीब परिवार से थे उनका एक छोटा सा घर था.वह शुरू से ही एक बड़ी सोच रखते थे और जीवन में आगे बढ़ने के लिए हमेशा प्रयत्न करते थे.माइकल जॉर्डन एक बास्केटबॉल के खिलाड़ी हैं चलिए जानते हैं उनके जींवन की इस प्रेरणादायक घटना को.

माइकल जॉर्डन जब बच्चे थे तब उनके पिता ने उन्हें अपने पास बुलाया और कहा बेटा ये एक कपड़ा है ये कपड़ा में तुझे दे रहा हूं.तू इसे $1 में बेचकर कल मेरे पास आ.माइकल जॉर्डन अपने पिता की बात सुनकर सोचने लगे कि अब मैं इस बेकार से कपड़े को $1 में कैसे बेचू.उन्होंने उस कपड़े को सबसे पहले अच्छी तरह से धोया.उनके घर पर उस कपड़े पर प्रेस करने के लिए प्रेस नहीं थी इस वजह से उन्होंने कुछ वजनदार चीजें उस कपड़े पर कुछ समय तक रख दी जिस वजह से वह कपड़ा सीधा हो गया और दिखने में अच्छा लगने लगा उसके बाद वह बाजार में गए और उस कपड़े को बेचकर अगले ही दिन अपने पिता के सामने प्रस्तुत हुए.यह देख उनके पिता बहुत ही खुश हुए कुछ समय बाद 1 दिन फिर से माइकल जॉर्डन के पिता ने उन्हें बुलाया और कहा कि बेटा मैं तुझे कपड़ा दे रहा हूं इसे तू $10 में बेच कर दिखा.यह सुनकर वह बहुत ही अचंभित हुए वह सोचने लगे कि मेरे पिता मुझसे ऐसा क्यों कहते हैं उन्होंने फिर भी अपने पापा से ज्यादा कुछ नहीं पूछा वह कपड़े को लेकर निकल गए सबसे पहले उन्होंने उस कपड़े की अच्छी तरह धुलाई की और अपने एक दोस्त के पास ले जाकर उस पर मिकी माउस का स्टीकर लगा दी जिससे वह कपड़ा अच्छा लगने लगा और बाजार में ले जाकर बेचने का प्रयत्न किया.

जब एक बच्चे ने वह कपड़ा देखा तो उसे वह बहुत ही पसंद आया और उसने उस कपड़े को खरीदने के लिए अपने पापा से कहा और वह कपड़ा $10 में बिक गया अब माइकल जॉर्डन बहुत ही खुश था उसने घर जाकर $10 अपने पापा जी को दिए लेकिन कुछ ही दिनों बाद उनके पापा ने फिर से उसे कपड़ा दिया और कहा कि बेटा इस कपड़े को 200 डॉलर में बेच कर आ.ऐसा सुनकर माइकल जॉर्डन थोड़ा अचंभित हुए लेकिन वह बिल्कुल भी घबराए नहीं कुछ समय बाद वह दो-तीन दिन तो इस बारे में सोचते ही रहे कि मैं कैसे इस कपड़े को $200 में बेचूगा लेकिन उनके शहर में 1 दिन एक स्टार आई वह वहां पर गये और ऑटोग्राफ लेने के लिए उसने वही कपड़ा आगे कर दिया जब लोगों ने उस स्टार के साथ माइकल जॉर्डन को देखा तो सभी लोग उस कपड़े की बहुत सी कीमत देने के लिए तैयार थे इस तरह से माइकल जॉर्डन एक छोटे से बच्चे ने अपनी पॉजिटिव सोच से एक छोटे से $1 के कपड़े को $200 में ही बेच दिया इसलिए कहते हैं की हमेशा पॉजिटिव सोचो.

Related-नितीश कुमार की जीवनी Nitish Kumar Biography in Hindi

माइकल जॉर्डन एक सबसे बड़े बॉस्केटबाल के खिलाड़ी हैं जिन्होंने संन्यास ले लिया है लेकिन उनकी पॉजिटिव सोच की वजह से,जिंदगी में कुछ बड़ा करने की सोच की वजह से ही वह इतने आगे बढ़े और उन्होंने देश दुनिया में एक बहुत बड़ा नाम कमाया.दोस्तों माइकल जॉर्डन की प्रेरणादायक घटना बताने के पीछे मेरा मकसद यह है कि आप सभी भी माइकल जॉर्डन की तरह कुछ अच्छा कुछ पॉजिटिव सोचे जिससे आप जीवन में आगे बढ़ सके.

अगर आप कुछ करने से पहले सोचते हैं कि मैं नहीं कर पाऊंगा तो वास्तव में छोटे से छोटे काम भी नहीं कर पाओगे लेकिन अगर आपने पॉजिटिव सोचा कि मैं कर पाऊंगा तो वाकई में आपकी वह पॉजिटिव सोच आपके एक नामुमकिन काम को भी मुमकिन बना सकती है.

दोस्तों इस तरह से आप जीवन में सफलता अर्जित करें और जीवन में बहुत आगे बढ़ें.अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Michael Jordan motivational story in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Michael Jordan biography in hindi कैसा लगा अगर आप चाहे हमारी अगली पोस्ट को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.