युवा पीढ़ी और देश का भविष्य पर निबंध essay on yuva pidhi aur desh ka bhavishya in hindi

Aaj ki yuva peedhi essay in hindi

Essay on yuva pidi in hindi-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल essay on yuva pidhi aur desh ka bhavishya in hindi आप सभी के लिए बहुत ही शिक्षाप्रद साबित होगा दोस्तों हम पहले भी आपकी मदद के लिए बहुत से निबंध प्रस्तुत कर चुके हैं आज का हमारा निबंध इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि हमारे देश में युवा पीढ़ी ही एक ऐसी पीढ़ी है जो जीवन में एक अच्छे मार्ग पर चढ़कर अपने देश का विकास कर सकता है और अपने देश को सबसे आगे ले जा सकता है.

essay on yuva pidhi aur desh ka bhavishya in hindi
essay on yuva pidhi aur desh ka bhavishya in hindi

युवा ही अच्छी शिक्षा लेकर अपने सपनो को साकार करते हुए अपने देश का नाम ऊंचा कर सकते हैं चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के इस आर्टिकल को जो आपको काफी प्रेरित करेगा.

Essay on yuva pidhi aur desh ka bhavishya in hindi

दोस्तों युवा पीढ़ी और देश का भविष्य एक दूसरे पर निर्भर करता है.किसी भी देश में अगर युवाओं की संख्या ज्यादा है तो उस देश का विकास भी तेजी से होता है क्योंकि युवा पीढ़ी ही देश का विकास कर सकती हैं.हमारा देश कुछ मामलो में और देशों से आगे है तो इसमें सबसे बड़ा योगदान हमारी युवा पीढ़ी का है लेकिन कुछ क्षेत्रों में हमारा देश पीछे रह जाता है तो कहीं ना कहीं इसमें युवा पीढ़ी भी जिम्मेदार  है.हमारे देश में युवाओं की संख्या काफी है.युवा पीढ़ी हमारे देश का भविष्य होती है
युवा पीढ़ी अगर इस उम्र में कुछ अच्छा करती है, जीवन में अच्छी तरह से पढ़ाई करती हैं या फिर किसी अच्छे क्षेत्र में मेहनत करता है तो वाकई में वह खुद तो आगे बढ़ ही सकती है साथ मे अपने देश को भी आगे बढ़ा सकती है वहीं दूसरी ओर हमारे देश में कुछ ऐसे युवा भी हैं जो अपनी युवा उम्र गलत कामों में लगा देती है जिससे उनकी खुद की जिंदगी तो बर्बाद होती ही है साथ में देश का भविष्य दी कमजोर होता है क्योंकि देश की युवा पीढ़ी ही देश का भविष्य निश्चित करती है. देश की युवा पीढ़ी अगर चाहें तो अपने देश का विकास कर सकती है देश को आगे बढ़ा सकती हैं और नशीली चीजों को दूर रखकर अपने आपको स्वस्थ रख सकती हैं.

आज के कुछ युवा शराब, गुटखा, तमाकू जैसी चीजों का उपयोग करके अपने और अपने देश का भविष्य खतरे में डालते हैं उनसे वह भविष्य में आर्थिक रुप से कमजोर तो होते ही हैं साथ में देश का भविष्य कमजोर कर देते हैं.हर युवा को चाहिए कि वह समझे कि उसकी उम्र एक ऐसी उम्र है जिसमें वह चाहे तो कुछ अच्छा करके अपने साथ में अपने देश का नाम भी रोशन कर सकता है क्योंकि इस उम्र में उसके पास जोश जुनून,कुछ करने की लगन और क्षमता होती है अगर ये उम्र निकल जाए तो एक इंसान जीवन भर पछताता है उसके पास पछताने के सिवा कुछ नहीं होता.
देश की युवा पीढ़ी जितनी अच्छी होगी, जितनी लगनशील होगी,जितनी मेहनत करने वाली होगी देश का भविष्य भी उतना ही उज्जवल होता है युवा उम्र में हर एक नौजवान पढ़ाई करता है,मां बाप उसकी पढ़ाई करवाने के लिए उस पर पैसे खर्च करते हैं कुछ युवा पीढ़ी अपने अच्छे भविष्य के लिए इस उम्र में मेहनत करती है वहीं दूसरी और कुछ युवा पीढ़ी अपने परिवार के लोगों द्वारा शिक्षा के लिए की जाने वाली व्यवस्था का गलत उपयोग करते हैं वह पढ़ाई पर ध्यान नहीं देते और अपना कीमती समय फालतू कामों में लगाते हैं जिससे उनके साथ में उनके देश का नाम भी खराब होता है.

Related-मेरे जीवन का लक्ष्य शिक्षक बनना     सबसे बड़ी कमी inspirational hindi story on changing nature

आजकल के इस आधुनिक जमाने में भले ही हमारा देश तेजी से तरक्की कर रहा है लेकिन दूसरी ओर आजकल की नई सोच वाले लोग कुछ ऐसा कर रहे हैं जिस वजह से हमारा देश पीछे जा रहा है.हमारे देश के नौजवान यानी कुछ युवा पीढ़ी देर तक सोती है, सुबह काफी देर से जागती है जिस वजह से उनकी सेहत भी ख़राब रहती है. पहले के जमाने में जहां लोग सुबह जल्दी जागते थे,जल्दी नहाते थे और अपने काम पर जाते थे लेकिन आजकल के जमाने में लोगों की दिनचर्या बदलती जा रही है कुछ लोगों का बिल्कुल भी टाइम टेबल नहीं होता है जिससैं वह अपना काम सही तरह से नहीं कर पाते हैं.आजकल की कुछ युवा पीढ़ी अपना कीमती समय मोबाइल और इंटरनेट, लैपटॉप पर देती है जिस वजह से उनका दिमागी संतुलन भी कमजोर होता है और उनकी आंखे भी कमजोर होती हैं साथ में जिस समय उनको एक्सरसाइज या व्यायाम या फिर कोई खेल खेलना चाहिए जिससे उनके शरीर में फुर्ती आए और उनका शरीर स्वस्थ रहे.

उसी उम्र में हमारे देश की युवा पीढ़ी कंप्यूटर,मोबाइल,इंटरनेट में कुछ ज्यादा समय बिताकर अपना भविष्य और अपने देश का भविष्य खतरे में डाल रही है इसलिए हर एक नौजवान यानी आजकल की युवा पीढ़ी को समझना चाहिए कि हमारे भारत देश का भविष्य हमारे ऊपर ही निर्भर करता है अगर हम सही तरह से रहे,इस युवा पीढ़ी में कुछ अच्छा करें,लगन से करें,मेहनत से करें और अपने सपनों को साकार करने के लिए कभी भी आलस्य का सहारा ना लें यानी आलस को दूर करके अपने सपनों के लिए लगातार मेहनत करें तो वाकई में उनके साथ देश भी तरक्की करेगा.हमारा देश हर परेशानी से मुक्त हो सकेगा.

आज हमारे देश में बहुत सी समस्याएं हैं.अगर युवा पीढ़ी चाहे तो उन समस्याओं से मुक्त हो सकती है.जब हमारा देश अंग्रेजों का गुलाम था तब से भले ही हमें स्वतंत्रता मिल गई है लेकिन हमें आर्थिक स्वतंत्रता नहीं मिल पा रही है अगर वाकई में हमारे देश को आर्थिक रुप से मजबूत करना है यानि आर्थिक स्वतंत्रता हम सभी को पाना है तो आजकल की युवा पीढ़ी को बदलने की जरूरत है. उनको कुछ अच्छा,कुछ खास करने की जरूरत है जिससे उनके साथ में उनका भविष्य,देश का भविष्य उज्जवल हो सके इसलिए हम कह सकते हैं कि युवा पीढ़ी और देश का भविष्य एक दूसरे पर निर्भर करता है.

अगर आपको हमारे द्वारा लिखित आर्टिकल essay on yuva pidhi aur desh ka bhavishya in hindi पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक जरुर करें और हमें कमेंट्स कर यह बताएं कि आपको हमारे द्वारा लिखा ये आर्टिकल essay on yuva pidhi aur desh ka bhavishya in hindi कैसा लगा.अगर आप चाहें हमारी अगली पोस्ट को सीधे अपने ईमेल पऱ पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.