बुद्धिमानी की परीक्षा Tenali raman ki chaturai ke kisse in hindi

Tenali raman ki chaturai ke kisse in hindi

Tenali raman ki chaturai ke kisse in hindi-हेलो फ्रेंड कैसे हैं आप सभी आज की हमारी कहानी बुद्धिमानी की परीक्षा तेनालीराम की एक ऐसी कहानी है जो हमको सीख देती है कि अगर हम बुद्धिमानी के साथ किसी काम को करें तो बड़े से बड़े काम में हम सफलता पा सकते हैं चलिए पढ़ते हैं इस कहानी को

Tenali raman ki chaturai ke kisse in hindi
Tenali raman ki chaturai ke kisse in hindi

image source- https://hi.wikipedia.org/wiki

एक बार विजय नगर मैं रात के समय बहुत सी चोरी हो रही थी जिस वजह से विजय नगर के की प्रजा राजा से इस बारे में chori रुकवाने के लिए गुहार लगा रही थी राजा ने विजय नगर में चारों ओर सैनिक और गुप्त चर नगर की सुरक्षा के लिए रख दिए थे लेकिन फिर भी लगातार चोरी हो रही थी आखिर विजय नगर के राजा ने इन सब से तंग आकर अपने सबसे बुद्धिमान तेनालीराम से कहां कि तुमको जितने सैनिक चाहिए वह ले लो लेकिन जल्द से जल्द इस नगर में चोरियों को रुकवा दो तेनालीराम कहने लगे मुझे किसी भी सैनिक की जरूरत नहीं मैं अकेला ही चोरी होने से रुकवा सकता हूं ऐसा सुनकर सभा में उपस्थित सभी लोग उनका मजाक उड़ाने लगे अब तेनालीराम को अपनी बुद्धिमानी की परीक्षा देने का मौका आ गया तेनालीराम उसी समय वहां से चल दिए.
अगले ही सुबह नगर में चारों तरफ खबर फैल गई की नगर के साहूकार ने एक ऐसा मंत्र सीखा है जिस मंत्र को वह रात में पढ़कर अपनी तिजोरी खुली रखकर सोएगा तो उसके घर में चोरी नहीं हो सकती जब ये खबर चोरों तक पहुंची तो चोरों ने सोचा कि तिजोरी खुली हुई है रात को यहां पर चोरी करने जाएंगे.चोर रात में साहूकार के घर में चोरी करने घुस गए और खुली तिजोरी से सारी दौलत निकालकर अपने साथ ले गए और पुराने मंत्री के पास जाकर छुप गये.

अगली सुबह जब राजा को पता लगा की साहूकार के घर चोरी हो चुकी है तो राजा अपने नगर में हो रही लगातार चोरी के वजह से काफी दुखी थे इतने में ही तेनालीराम इन दोनों चोरों को साथ में लेकर आ गए और कहने लगे महाराज यह देखिए विजय नगर के चोरों को.राजा ने तेनालराम से पूछा कि तुमने ऐसा कैसे किया तो तेनालीराम कहते हैं दरह्सल विजय नगर में चारों ओर ये खबर मैंने ही फैलाई थी की साहूकार को एक मंत्र आता है जिससे उसके घर में चोरी नहीं होगी और उसके बाद मैंने साहूकार से इस बारे में बात की और रात को तिजोरी खुली छोड़कर सोने के लिए कहा और उसके घर में जैसे ही चोर आए और तिजोरी से सामान लेकर जाने लगे तो उनके पैर काले काले हो गये और जब वो मंत्री जी के घर में घुसे और हमने जब चेक किया तो उनके काले कलर के पैरों से हम पहचान चुके थे की ये चोर है.अब चोर आपके सामने हैं और चोरी करवाने वाला कोई और नहीं बल्कि आपका पुराना मंत्री है इतनी बात सुनकर राजा ने उस पुराने मंत्री और चोरों को केद्खाने में बंद करने का आदेश दिया और तेनालीराम की बुद्धि की परीक्षा पूरी हुई और अपने देश में हो रही चोरी को बचा लिया दोस्तों वाकई में अगर एक इंसान बुद्धि से कोई काम करें तो वह बड़ी से बड़ी प्रॉब्लम को सॉल्व कर सकता है.

Related- बहुत बड़ा राक्षस short story on positive thinking in hindi

अगर आपको ये आर्टिकल Tenali raman ki chaturai ke kisse in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा अगर आप चाहे हमारी अगली पोस्ट को अपने ईमेल पर पाना हो तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.