सोशल मीडिया वरदान या अभिशाप Social media vardan ya abhishaap essay in hindi

Advantages and disadvantages of social media essay in hindi

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Social media vardan ya abhishaap essay in hindi आप सभी के लिए बहुत ही हेल्पफुल है दोस्तों आप सभी की हेल्प के लिए हम बहुत से निबंध प्रस्तुत कर चुके हैं आज का ये आर्टिकल आपके लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि आज सोशल नेटवर्किंग साइट या सोशल मीडिया का उपयोग बहुत ज्यादा होने लगा है कहते हैं अगर किसी चीज से फायदा होता है तो उसका ज्यादा उपयोग करने से हमें नुकसान भी हो सकता है सोशल मीडिया भी हमारे लिए भी कुछ ऐसा ही है चलिए पढ़ते हैं Social media vardan ya abhishaap essay in hindi को

Social media vardan ya abhishaap essay in hindi
Social media vardan ya abhishaap essay in hindi

सोशल मीडिया देखा जाए तो हमारे लिए एक वरदान है सोशल मीडिया जैसे की Facebook,WhatsApp,ट्विटर आदि हम सभी को एक दूसरे के संपर्क में रहने में मदद करती हैं पहले के जमाने में जब इंटरनेट सोशल मीडिया आदि के कोई भी साधन नहीं होते थे तो लोग पत्रों एवं कबूतरों के माध्यम से एक दूसरे की जानकारी ले पाते थे जिसमें काफी लंबा समय लगता था लेकिन जमाने के साथ इस सिस्टम में परिवर्तन हुआ है और आज हम इंटरनेट के जमाने में सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक WhatsApp ट्विटर के जरिए दुनिया के किसी भी देश के व्यक्ति से लाइव बात कर सकते हैं इसका जवाब हम तुरंत पा सकते हैं यह हम सभी के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है बहुत सी बातें ऐसी होती हैं जो हमें तुरंत पता लगाना होती हैं सोशल नेटवर्किंग साइट एक ऐसा माध्यम है जिससे हम इस तरह की मदद ले सकते हैं इन साइटों के जरिए हम अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से वार्तालाप तो कर ही सकते हैं साथ में हम उनसे फोटो,वीडियो आदि शेयर कर सकते हैं जिससे हमारा मनोरंजन तो होता ही है साथ में रिश्ते भी मजबूत होते हैं.

पहले के जमाने में अगर हमें किसी से बात करना है या मिलने जाना है तो उसमें काफी समय लगता था लेकिन आजकल हम किसी भी दूर के व्यक्ति से बातचीत कर सकते हैं उसके फोटो मंगा सकते हैं साथ में उसको देख भी सकते हैं इसलिए सोशल नेटवर्किंग साइट हमारे लिए वरदान है इसके अलावा अगर हम पढ़ाई करते हैं और हमारा दोस्त या टीचर कहीं दूर हैं और हम उनसे किसी विषय पर ज्यादा जानकारी लेना चाहते हैं तो सोशल नेटवर्किंग साइट्स हमारी इसमें बहुत मदद कर सकता है.सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक का निर्माण मार्क जुकरबर्ग ने सन 2004 में किया था लेकिन इससे भी पहले कुछ सोशल नेटवर्किंग साइट बनी लेकिन आज के जमाने में Facebook सबसे पॉपुलर सोशल नेटवर्किंग साइट है जिसके जरिए हम लोगों से जुड़ सकते हैं सोशल मीडिया के जरिए आज बहुत से मुद्दों पर लोगों को जानकारी दी जाती है देखा जाए तो सोशल मीडिया आज के जमाने की जरूरत है और इसके बगैर हमारा जीवन अधूरा है इससे हमें बहुत फायदा है यह हमारे लिए वरदान है लेकिन जैसे कि मैंने आपको ऊपर बताया था कि अगर हम किसी चीज का उपयोग हद से ज्यादा करें तो यह हमारे लिए एक अभिशाप भी बन सकती है सोशल मीडिया के भी काफी कुछ नुकसान है.

Related- इन्टरनेट के फायदे और नुक्सान internet ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

आज सोशल मीडिया साईट Facebook चलाने के लिए 13 वर्ष से ज्यादा उम्र होनी चाहिए बहुत से बच्चे जो 13 साल से कम उम्र के हैं वह इसका उपयोग करते हैं जिस वजह से वह अनजाने में ऐसी बातों को जानते हैं जिन्हें उन्हें नहीं जाना चाहिए और उनके दिमाग पर गहरा असर पड़ता है सोशल मीडिया के जरिए बहुत से बच्चे बहुत से महिला पुरुष दिन भर रात भर अपने दोस्तों से बातें करते रहते हैं जिस वजह से वह अपने पास में बैठे रिश्तेदार या दोस्तों को भूल जाते हैं या उनसे बात नहीं करते बल्कि एक अनजान व्यक्ति जिससे सोशल नेटवर्किंग साइट पर दोस्ती होती है उससे वह घंटो बातें करते रहते हैं इससे उनका समय बर्बाद होता है और उनका जीवन भी बर्बाद होता है इसके अलावा हमारे समाज में बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो सोशल मीडिया साइट के आदी हो चुके होते हैं उन्हें एक तरह से इसकी लत लग जाती है वह हर हालत में फेसबुक ट्विटर WhatsApp जैसी साईट का उपयोग किए बगैर नहीं रह सकते वह हमेशा इस बारे में ही सोचते रहते हैं जिस वजह से उनका समय बर्बाद होता है और उनकी आंखें कमजोर होती हैं साथ में उनके दिमाग पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है और वह सही से पढ़ाई नहीं कर पाते जिससे उनका भविष्य अंधकारमय होता है.

सोशल मीडिया का ज्यादा उपयोग करने से बहुत से रिश्ते बिगड़ जाते हैं पति पत्नी,मां बाप,भाई बहन आदि के संबंध में जरूरी है कि हम अपने संबंधी को समय दें उनसे बातें करें लेकिन बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो अपने रिश्तो को वैल्यू ना देकर सोशल नेटवर्किंग साइट के दोस्तों को समय देते हैं जिस वजह से उनके रिश्ते बिगड़ जाते हैं और परिवार में झगड़े होने शुरू हो जाते हैं ये सोशल नेटवर्किंग साइट का सबसे बड़ा नकारात्मक पहलू है.सोशल नेटवर्किंग साइट के जरिए कभी-कभी तो ऐसा होता है कि कोई किसी को बदनाम करने के लिए उसके गलत फोटो या जानकारी डाल देता है जिससे सामने वाले की जिंदगी बर्बाद होती है इसलिए हम देखें तो सोशल नेटवर्किंग के बहुत सारे फायदे हैं लेकिन वहीं दूसरी ओर सोशल नेटवर्किंग साइट अगर सही से उपयोग ना किया जाए या इसका उपयोग बहुत ज्यादा किया जाए तो इसके सबसे ज्यादा दुष्परिणाम भी होते हैं इसलिए हम सभी को चाहिए कि हम अपने बच्चों पर विशेष ध्यान दें,उनको सोशल नेटवर्किंग साइट का ज्यादा समय तक उपयोग करने से बचाये,उन्हें इसका आदी होने से बचाएं तभी हम उनके भविष्य को बचा सकते हैं.

दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल advantages and disadvantages of social media essay in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Social media vardan ya abhishaap essay in hindi कैसा लगा अगर आप चाहें हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

अगर आपको हमारे इस आर्टिकल Social media vardan ya abhishaap essay in hindi में कुछ भी गलत लगा हो तो हमे बताये हम उसे पुनः अपडेट करेंगे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.