वी शांताराम की जीवनी V shantaram biography in hindi

V shantaram biography in hindi

V shantaram biography in hindi-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब,दोस्तों आज वी शांताराम जी के जन्मदिन पर हम आपके लिए लाए हैं इनकी जीवनी.वी शांताराम फिल्मी दुनिया के एक ऐसे एक्टर और निर्देशक थे जिन्होंने शुरुआती दिनों में बहुत सी मुश्किलों का सामना कर फिल्मी दुनिया में नाम कमाया है उन्होंने बहुत सारे फिल्मों के अवार्ड जीते हैं जिन्हें पाना बहुत मुश्किल होता है वो एक ऐसे निर्देशक थे जो फिल्मी दुनिया की बारीकियों को समझते थे आज हम आपके लिए लाए हैं इसी महान इंसान की जीवनी को जिसने फिल्मी दुनिया में बहुत से एक्टरों को अपनी फिल्मों में काम देखकर जीवन में आगे बढ़ाया है उन्होंने फिल्मी दुनिया में अपना अतुलनीय स्थान प्राप्त किया है.

V shantaram biography in hindi
V shantaram biography in hindi

Image source- https://commons.wikimedia.org/wiki/File:V._Shantaram.jpg

वी शांताराम जी का जन्म 18 नवंबर 1901 में महाराष्ट्र के कोल्हापुर में महाराष्ट्रीयन परिवार में हुआ था इनका पूरा नाम राजाराम वाकुंदरे शांताराम था इन्होंने बहुत ही कम शिक्षा प्राप्त की थी इसके बाद उन्होंने बहुत ही कम उम्र में ही काम करना शुरु कर दिया था ये 12 साल की उम्र में रेलवे वर्कशॉप में काम करते थे लेकिन इस काम से वह संतुष्ट नहीं थे वह अपनी रुचि के अनुसार कुछ अच्छा काम करना चाहते थे इसी वजह से वो एक नाटक मंडली में शामिल हो गए इसके बाद वह बाबूराम पेंटर से मिले इन्होंने बाबूराम पेंटर की फिल्म कंपनी में काम करना शुरु कर दिया बाबूराम पेंटर उन्हें छोटे-मोटे रोल दिया करते थे.शुरुआत में इन्होंने कुछ मूक फिल्मे भी की काम किया था.शांताराम जी लगातार इस और मेहनत किए जा रहे थे बहुत सालों प्रयत्न करने के बाद उन्होंने फिल्म निर्माण की बारीकियां भी सीख ली थी और फिल्म निर्देशक बन गए.

शांताराम जी को ऐतिहासिक और पौराणिक विषय पर फिल्में बनाना बहुत ही पसंद था इन्होने इस विषय पर कई फिल्में बनाई लेकिन कुछ समय बाद कहीं अलग विषय की फिल्मे भी बनाई.शांताराम जी ने अपनी पहली एनिमेटेड फिल्म भी बनाई जिसको बच्चों ने पसंद किया.
उन्होंने अपने जीवन में तीन बार शादी की थी उनकी पहली पत्नी का नाम विमला था दूसरी पत्नी जिनका नाम जय श्री था और तीसरी पत्नी जो एक अभिनेत्री के तौर पर जानी जाती हैं उनका नाम संध्या था
उन्होंने अपने जीवन में अभिनेता के तौर पर कई फिल्में बनाई जैसे कि इनकी सबसे पहली फिल्म सिंघगढ़ थी, इसके बाद उन्होंने सावकारी पाश, अमर ज्योति जैसी फिल्में बनाई
निर्माता के रूप में उन्होंने बनवासी, शकुंतला, सेहरा जैसी बहुत सी फिल्में बनाई

उन्होंने एक एनिमेटेड फिल्म जम्मू काका बनाई उन्होंने कुछ समय तक प्रभात फिल्म के साथ में काम किया इसके बाद राजकमल कला मंदिर का भी उन्होंने निर्माण किया था राजकमल कला मंदिर के साथ उनकी फिल्में शकुंतला, अपना देश, दहेज, सुरंग, do Aankhen Barah Haath, सेहरा, पिंजरा,झंझार आदि थी.फिल्मो के लिए इन्होंने बहुत सारे अवार्ड भी जीते जो कि किसी भी एक्टर और फिल्म निर्माता के लिए बड़े ही हर्ष की बात है उन्होंने 1985 में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार जीता था और सन 1962 में पद्म विभूषण पाकर फिल्मी दुनिया में एक नया इतिहास रचा था इसके अलावा भी फिल्मों के लिए और भी बहुत सारे अवार्ड पुरस्कार जीते थे.
वाकई में वी शांताराम फिल्मी दुनिया का एक ऐसा नाम था जिन्होंने बॉलीवुड की दुनिया के लिए बहुत कुछ किया है उनके परिवार में भी ऐसे कई सदस्य हैं जिन्होंने बॉलीवुड की दुनिया में बहुत अच्छा नाम कमाया है हम सब भी शांताराम के फिल्मी दुनिया में योगदान के लिए हमेशा याद करते रहेंगे.

फिल्मी दुनिया के महान अभिनेता निर्देशक वी शांताराम जी का 30 अक्टूबर 1990 को मुंबई में निधन हो गया था लेकिन वी शांताराम हमेशा अमर रहेंगे उनका नाम हमेशा अमर रहेगा.जब जब 18 नवंबर आएगा वी शांताराम जी को याद किया जाएगा.

Related- बोमन ईरानी का जीवन परिचय Boman Irani Biography In Hindi
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल V shantaram biography in hindi पसंद आये तो इसे शेयर जरुर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा.अगर आप चाहे हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.