आज की अदालत के रजत शर्मा की जीवनी Rajat sharma biography in hindi

Rajat sharma biography in hindi

Rajat sharma biography in hindi-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे इंसान के बारे में बताने वाले हैं जिन्होंने अपने जीवन में बहुत बड़ी सफलता हासिल की है वह बहुत गरीब थे लेकिन अपनी लगातार की हुई मेहनत से वह आज इतने सफल हो चुके हैं कि हर कोई उनकी तरह सफलता की ऊंचाई पर पहुंचना चाहता है वह india TV के चेयरमैन हैं साथ में आपकी अदालत के होस्ट भी हैं उनकी जिंदगी वाकई में ऐसे संघर्षों से भरी पड़ी है सुनकर ही डर लगता है चलिए पढ़ते हैं आज Rajat sharma biography in hindi जिन्होंने एक बहुत बड़ी सफलता अर्जित की है

Rajat sharma biography in hindi
Rajat sharma biography in hindi

Image source- https://commons.wikimedia.org/wiki/File:Rajat-Sharma-IndiaTV.JPG

रजत शर्मा का जन्म 18 फरवरी 1957 में दिल्ली में हुआ था दिल्ली में जिस जगह ये रहा करते थे उनका घर 10*10 का था अपने इस छोटे से घर में अपने 6 भाई,एक बहन और अपने बीमार माता-पिता के साथ रहा करते थे ये इतने गरीब थे कि कभी कभी इन्हें बिना खाए भी सोना पड़ता था ये कहते हैं कि पहले अमेरिका से पाउडर का दूध पॉलिथीन में आता था हम घंटों लाइन में खड़े होकर उस दूध को ले कर अपनी जीविका चलाते थे कभी खाने को मिलता तो कभी नहीं मिलता बस इसी तरह से इनकी जिंदगी गुजर रही थी.रजत शर्मा जी के पड़ोस में एक TV थी वह अक्सर TV देखने के लिए जाया करते थे उस समय का दौर था कि दूरदर्शन पर शुक्र शनिवार को एक फिल्म आती थी जो दो भागों में दिखाई जाती थी उन्होंने अपने पड़ोस में शहीद भगत सिंह के ऊपर बनी फिल्म शहीद का एक भाग शुक्रवार को देखा था वह दूसरा भाग शनिवार को देखने के लिए पड़ोस में गए लेकिन पडोसी ने दरवाजा बंद कर दिया उन्हें बहुत ही दुख हुआ जब वह अपने पिता के पास आए और उनसे यह बात कही तो उनके पिता ने उनसे कहा कि तुम किसी दूसरे को देखने के लिए किसी दूसरे के घर में जाते हो क्यों ना तुम खुद ही कुछ ऐसा बनो कि सभी तुमको देखें.

रजत शर्मा जी ने जब अपने पापा जी की कही हुई बात सुनी तो उन्हें ये बात हमेशा कुछ कर गुजरने के लिए प्रेरित करती थी उनके घर में किसी भी तरह की कोई भी व्यवस्था नहीं थी ना लाइट आती थी ना पानी की व्यवस्था थी उन्हें दूर नल पर पानी लेने के लिए जाना पड़ता था वहीं पर नहाने के लिए जाना पड़ता था वह पास के एक स्कूल में पढ़ाई करते थे वह रात में पढ़ाई करने के लिए रेलवे स्टेशन पर जाया करते थे क्योंकि घर में तो सिर्फ अंधेरा ही अंधेरा था.बचपन में उन्होंने कभी भी नहीं सोचा था कि वह सच में कभी टीवी पर आ सकेंगे उन्होंने अपनी स्कूलिंग कंप्लीट की उसके बाद उन्होंने कॉलेज में एडमिशन लिया और ग्रेजुएशन किया इसके बाद पोस्ट ग्रेजुएट में उन्होंने msc की.वह नौकरियों की तलाश कर रहे थे दरअसल उनका कोई भी बड़ा सपना नहीं था क्योंकि वह तो सिर्फ अपना और अपने परिवार का पेट भरने के लिए कुछ पैसा कमाना चाहते थे उन्हें सिर्फ नौकरी की तलाश थी वह पढ़ाई के बाद भी बहुत सारी नौकरियों की तलाश करने लगे इसके बाद एक बार नौकरी की तलाश करते हुए इनकी मुलाकात जनार्दन ठाकुर से हुई और इन्होंने रजत शर्मा जी को नौकरी पर रख लिया एक बार उन्होंने अपने रिसर्च के दम पर एक कहानी लिखी इसके बदले उन्हें अच्छे खासे पैसे भी मिले इसी के साथ उन्होंने एक मैगजीन में काम करना शुरू किया.

Related- अर्जुन रामपाल की जीवनी Arjun rampal biography in hindi

एक बार की बात है कि रजत शर्मा जी फ्लाइट में जा रहे थे तभी उनकी मुलाकात सुभाष चंद्र जी से हुई.सुभाष चंद्र जी जिन्होंने उस समय zee TV की शुरुआत की थी दोनों के बीच बातचीत हुई और रजत शर्मा जी ने सुभाष जी को आप की अदालत सीरियल का आईडिया दिया जिसमें नेता,सेलिब्रिटी आदि से सवाल जवाब किए जाते हैं उसके बाद उन दोनों की मुलाकात काफी समय तक नहीं हुई लेकिन एक दिन सुभाष चंद्र जी ने रजत शर्मा जी को अपने ऑफिस में बुला लिया और आपकी अदालत सीरियल को बनाने को कहा और कहा कि तुम ही इस सीरियल के होस्ट होगे इतना सुनकर रजत शर्मा जी को अपने आप पर विश्वास नहीं हुआ उन्होंने फौरन वह सीरियल करने के लिए हां कह दिया.

1993 को आप की अदालत का पहला सीरियल रिकॉर्ड होना था सीरियल के लिए सेट पर लालू प्रसाद यादव जी जो राजनीति के एक बहुत बड़े राजनेता हैं उनसे रजत शर्मा जी ने उनसे सवाल जवाब किए.यह सीरियल लोगो को बहुत ही पसंद आने लगा इसके बाद भी बहुत सारे सेलिब्रिटी,नेता आदि इस सीरियल में आए और सीरियल बहुत ही जबरदस्त चला इसके बाद सन 2004 में रजत शर्मा ने अपना खुद का एक TV चैनल लॉन्च करने का फैसला किया और इंडिया टीवी लांच किया इसके लिए उन्होंने बहुत सा पैसा इन्वेस्ट किया था बहुत सारे लोग इंडिया टीवी में काम करते थे लेकिन दो साल में ही उनको बहुत नुकसान हुआ.ये घाटे में चले गए और उनके पास इतने भी पैसे नहीं थे कि वह जॉब करने वाले लोगों को सैलरी दे सके इसलिए उन्होंने अपनी सारी प्रॉपर्टी बेचकर वर्करों की सैलरी दी अब उनके पास सिर्फ दो ही मौके थे या तो हार मान लिया जाए और इस काम को बीच में ही छोड़ दिया जाए या फिर इसमें कुछ बदलाव लाया जाए उन्होंने इसमें बहुत सारे बदलाव लाए और आने वाले सालों में इंडिया टीवी शिखर पर पहुंच गया और लोगों के बीच में लोकप्रिय हुआ.

करीब 8 महीने में यह देश का दूसरा नंबर का न्यूज चैनल बन गया उन्होंने अपने सीरियल आप की अदालत को इंडिया टीवी पर दिखाना शुरू कर दिया और ये सीरियल लोगों के बीच में पॉपुलर होने लगा इसी के साथ में रजत शर्मा जी को भी देश दुनिया का हर कोई जानता है इसके बाद भारत सरकार की तरफ से रजत शर्मा जी को पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया है इस तरह से एक गरीब से लड़के ने अपनी मेहनत और लगन से और कुछ करने के जुनून से उन्होंने वह सब कुछ करके दिखा दिया जो हर किसी का सपना होता है.आज रजत शर्मा जी का सीरियल घर घर में देखा जाता है उन्हें किसी पहचान की मोहताज की जरूरत नहीं है क्योंकि वह खुद ही ऐसी पहचान बन चुके हैं जो हमेशा हमेशा के लिए जाने जाएंगे.हम सभी को भी रजत शर्मा जी के जीवन से बहुत कुछ सीखने की जरूरत है हमें भी इन्हीं की तरह जीवन में बदलाव लाने की जरूरत है लगातार प्रयत्न करने की जरूरत है तभी हम जीवन में सफल हो सकते हैं.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल Rajat sharma biography in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरुर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Rajat sharma biography in hindi कैसा लगा अगर आप चाहे हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.