भिखारी की स्थिति The beggar short story in hindi

The beggar short story in hindi

The beggar short story in hindi-एक समय की बात है एक मंदिर के बाहर एक भिखारी भीख मांगता था उसके हाथ नहीं थे उससे ठीक तरह से चलते भी नहीं बनता था और पूरे शरीर से कहीं ना कहीं थोड़ा खून भी निकल रहा था उसकी बहुत ही दुर्दशा थी. एक दिन एक व्यक्ति जो भगवान के दर्शन करने के लिए मंदिर में आया तो उसने उस भिखारी को देखा वो भिखारी से कुछ पूछना चाहता था कि तुम्हारी इतनी दुर्दशा है फिर भी तुम जिंदा क्यों रहना चाहते हो लेकिन वह व्यक्ति भगवान के दर्शन के लिए सबसे पहले मंदिर गया और जैसे ही अंदर से निकला तब भी वह भिखारी उस व्यक्ति को दिखाई दिया.

The beggar short story in hindi
The beggar short story in hindi

तब उस व्यक्ति ने पूछ ही लिया की मेरी बात का बुरा मत मानना आपकी इतनी बुरी दुर्दशा है कि आपके हाथ नही हैं और ठीक से चलते भी नहीं बनता,पूरे शरीर से कहीं न कहीं खून निकल रहा है फिर भी आप जिंदा क्यों रहना चाहते हो?
उस व्यक्ति की बात सुनकर भिखारी ने कहा भाई मैं भी जीना नहीं चाहता मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि मुझे मौत दे दे लेकिन मुझे मौत नहीं आती दरहसल मैं यहां पर खड़ा रहता हूं क्योंकि आज जिस तरह तुम्हारी अच्छी दशा है उसी तरह कि मेरी कुछ समय पहले स्थिति थी,मैं सोचता हूं कि जिस तरह से मेरी अच्छी स्थिति से आज बुरी दुर्दशा हो गई है उसी प्रकार तुम्हारी आज इस अच्छी स्थिति से बुरी दुर्दशा ना हो जाए क्योंकि मैंने अपने जीवन में भगवान के द्वारा दिए गए अनमोल जीवन का दुरुपयोग किया था और आज मेरी स्थिति हो गई है तुम भी मुझे देखो और इस जीवन का दुरुपयोग ना करो और जीवन में हमेशा खुश रहो.

Related- एक समाजसेवक की आत्मकथा निबंध Ek samaj sevak ki atmakatha essay in hindi

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखी गई कहानी The beggar short story in hindi पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा अगर आप चाहे हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WordPress spam blocked by CleanTalk.